Typhoid Fever
  1. टाइफाइड बीमारी दूषित खाना और पेय के इस्तेमाल से फैलती है.
  2. मानसून में होनेवाले रोग को साधारण उपाय से रोका जा सकता है.

टाइफाइड साल्मोनेला एक संक्रामक रोग है जो बैक्टीरिया द्वारा फैलता है। जब यह कमजोर होता है, तेज बुखार और अन्य समस्याएं उत्पन्न होती हैं। यह बीमारी दूषित भोजन, पानी या किसी संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलती है। टाइफाइड गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल सिस्टम और रक्तप्रवाह के भीतर एक जीवाणु संक्रमण के कारण होता है।

टाइफाइड के लक्षण धीरे-धीरे प्रकट होते हैं। मानसून के दौरान बच्चे आमतौर पर टाइफाइड से पीड़ित होते हैं। प्रदूषण में वृद्धि से जलजनित रोग भी हो सकता है। आमतौर पर लक्षण संक्रमित होने के 6-30 दिनों के भीतर शुरू हो जाते हैं। बुखार और लालिमा इसके दो मुख्य लक्षण हैं। इससे अलग, रोग के अन्य लक्षणों में कमजोरी, थकान, भूख में कमी, पेट में दर्द, मांसपेशियों में ऐंठन, पसीना, दस्त और पेट फूलना शामिल हैं। यदि इन लक्षणों को नजरअंदाज किया जाता है तो चीजें पॉट में जा सकती हैं। इसलिए, टाइफाइड को रोकने के तरीके को समझना महत्वपूर्ण है।

बचाव के उपाय

हालांकि टाइफाइड का टीका बाजार में मौजूद है, लेकिन यह एक सौ पीसी प्रभावी नहीं है। संक्रमण को रोकने के लिए कई अन्य सरल उपाय हैं।

पीने का पानी पीने – दूषित पानी पीने से बचना चाहिए। यह होने जा रहा है कि आपके क्षेत्रों में उपलब्ध पानी दूषित है। इसलिए पीने के लिए फिल्टर पानी का उपयोग करें।

ताजा खाद्य पदार्थों का उपयोग करें – केवल ताजी सब्जियां और खाद्य पदार्थ खाएं। सब्जियों और खाद्य पदार्थों को लंबे समय तक स्टोर न करें। उपयोग करने से पहले इसे अच्छी तरह से धो लें।

हाथों को बार-बार धोएं – हाथों की सफाई करने से बैक्टीरिया और संक्रमण हाथों से दूर होते हैं। यह सफाई विधि आपको कई बीमारियों से बचाने में मदद करती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *