Coronavirus
  • गुजरात सरकार ने राज्य में कोरोना के मामले बढ़ते देख स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालयों को फिर से खोलने के निर्णय पर यू-टर्न ले लिया है।
  • छात्रों के बीच कोरोनोवायरस मामलों में अचानक आई तेजी के साथ, हरियाणा सरकार ने शुक्रवार को राज्य के सभी सरकारी और निजी स्कूलों को 30 नवंबर तक बंद करने का आदेश दिया है।

नई दिल्ली: देश के भीतर दिवाली के बाद, कोरोना संकट एक बार और तेजी से बढ़ रहा है। संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए, कुछ राज्यों ने प्रतिबंध लगाना शुरू कर दिया है। गुजरात के पांच शहरों अहमदाबाद और मध्य प्रदेश में रात का कर्फ्यू लगाने की घोषणा की गई है। एक समान समय में, कुछ राज्यों में स्कूलों और बाजारों को बंद करने का विकल्प चुना गया है।

अहमदाबाद में 57 घंटे का कर्फ्यू

गुजरात सरकार ने अहमदाबाद में दिवाली के दौरान और बाद में कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ, गुजरात सरकार ने रात्रि कर्फ्यू लगाने का फैसला किया है। ये कर्फ्यू अहमदाबाद शहर में शुक्रवार रात 9 बजे (20 नवंबर) से सोमवार (23 नवंबर) को सुबह छह बजे तक 57 घंटे का कर्फ्यू रहेगा। हालांकि गुजरात सरकार ने कोरोना वायरस के प्रसार पर रोक के लिए राज्य में ताजा लॉकडाउन से इनकार कर दिया। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने कहा कि उनकी सरकार राज्यव्यापी लॉकडाउन पर विचार नहीं कर रही है।

मध्य प्रदेश के पांच जिलों में आज रात से कर्फ्यू

मध्य प्रदेश के पांच जिलों में कोरोना के मरीजों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर रात्रि का कर्फ्यू लागू करने का सरकार ने फैसला लिया है। यह रात्रिकालीन कर्फ्यू शनिवार की रात से लागू होगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को कोराना की स्थिति की समीक्षा की थी।

चौहान ने बताया कि राज्य के पांच जिलों भोपाल, इंदौर, विदिशा, रतलाम और ग्वालियर में शनिवार को रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू लगेगा। रात के समय कर्फ्यू लागू होने के बावजूद भारवाहक वाहनों की आवाजाही पर कोई असर नहीं पड़ेगा। साथ ही औद्योगिक इकाईयों में काम करने वाले कर्मचारी निर्बाध रुप से आ जा सकेंगे। राज्य में स्कूल व कॉलेज बंद रखे जाएंगे। नवमीं से 12वीं तक के छात्र मार्गदर्शन लेने के लिए स्कूल जा सकेंगे।

हरियाणा और मुंबई में स्कूल बंद

हरियाणा सरकार ने पिछले महीने स्कूलों को खोलने का फैसला किया था। लेकिन हरियाणा के कई स्कूलों में कोरोना का विस्फोट देखने के बाद राज्य सरकार ने 30 नवंबर तक के लिए सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं। यह फैसला राज्य सरकार ने स्कूलों में बढ़ते कोरोना वायरस के केस को लेकर लिया है। शिक्षा विभाग ने इस संदर्भ में निर्देश जारी किए हैं। हरियाणा के स्कूलों में छात्रों की कोरोना की जांच की गई, जिसमें 300 से ज्यादा छात्र कोरोना संक्रमित पाए गए थे। नौवमीं से बारहवीं तक के छात्रों के लिए 2 नवंबर को स्कूलों को फिर से खोल दिया गया था।

वहीं कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में अब 31 दिसंबर स्कूल बंद रहेंगे। इसको लेकर बीएमसी ने आदेश जारी कर दिए हैं।

राजस्थान में धारा 144

राजस्थान की राज्य सरकार ने सूबे के सभी जिलाधिकारियों को 21 नवंबर से धारा-144 लगाने की सलाह दी है। गृह विभाग के ग्रुप-9 ने सभी जिलाधिकारियों को परामर्श जारी कर दिया है। सूबे में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। राजस्थान में सर्दियां बढ़ने के साथ ही नवंबर महीने के दूसरे सप्ताह में कोरोना के मामले बढ़ने शुरू हो गए हैं। प्रदेश में पहली बार 19 नवंबर को एक ही दिन में ढाई हजार से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए। इसके साथ ही 15 जिलों में कोरोना से 15 लोगों की मौत हुई। इसी बीच राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए सख्ती दिखानी शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *